Bejod Joda ( बेजोड़ जोड़ा )

चाहे बातें फ़िल्मी हो या कहानियाँ, कविताएँ, आज के सितारे, फिल्म रिव्यू, ग़ज़ल, ट्रेंडिंग टॉपिक्स, बेजोड़ बातें, खेल, शायरी, जोक्स या कुछ और. फिर चाहे वो बातें हो जिसे आप अपनी रोजमर्रा की ज़िन्दगी में पीछे छोड़ आये हैं. आपको बेजोड़ जोड़ा हमेशा आपके साथ मिला कर रखते है. यही है बेजोड़ जोड़ा. आपका अभिन्न हिस्सा.

वीडियो समीक्षा

पीएम नरेंद्र मोदी फिल्म का ट्रेलर आ गया है

ओमंग इससे पहले मेरी कॉम और सरबजीत जैसी फ़िल्में निर्देशित कर चुके हैं। पूरा पढ़ें...

पीएम नरेंद्र मोदी फिल्म का ट्रेलर आ गया है

ट्रेलर रिव्यू: केसरी

सिर्फ 21 सिखों द्वारा 10,000 अफगानियों को धूल चाटने की कहानी "बैटल ऑफ़ सारागढ़ी" पर आधारित है यह फिल्म। पूरा पढ़ें...

ट्रेलर रिव्यू: केसरी

समलैंगिगता पर बनी यह फिल्म धारा 377 को और सशक्त बनाती है

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा फिल्म उन लोगों को काफी हौसला देगी जो सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए धारा 377 के सकारात्मक फैसले पर अपने लिए एक जीत समझ रहे थे. पूरा पढ़ें...

समलैंगिगता पर बनी यह फिल्म धारा 377 को और सशक्त बनाती है

अनुपम खेर की ‘दी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर रिव्यू

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की प्रधानमंत्री काल के ऊपर बेस्ड फिल्म ‘दी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर आ गया है. ये फिल्म डॉ. मनमोहन सिंह के मीडिया एडवाइजर संजय बारू की कंट्रोवर्शियल किताब ‘दी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर बेस्ड है. पूरा पढ़ें...

अनुपम खेर की ‘दी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर रिव्यू

द कपिल शर्मा शो ट्रेलर| The Kapil Sharma Show trailer review

कपिल शर्मा एक साल बाद फिर से अपनी शो The Kapil Sharma Show को लेकर २9 दिसंबर से सोनी चैनल पर आ रहा है. आपको बच्चा यादव का कपिल शर्मा पे एक साल गायब रहने के बीच क्या करने का कमेंट बहुत ही पसंद आएगा. पूरा पढ़ें...

द कपिल शर्मा शो ट्रेलर| The Kapil Sharma Show trailer review

सिंदबाद जहाजी की कहानी

सिंदबाद जहाजी की पांचवीं समुद्री यात्रा

जब जोर की ठक-ठक की आवाज के साथ बच्चे की चोंच अंडा तोड़ कर निकली तो व्यापारियों को सूझा कि रुख के बच्चे को भूनकर खा जाएँ। पूरा पढ़ें...

सिंदबाद जहाजी की पांचवीं समुद्री यात्रा

सिंदबाद जहाजी की चौथी समुद्री यात्रा

बादशाह के कब्जे में जो द्वीप था वह बहुत बड़ा और धन-धान्य से पूर्ण था। उसने मुझे अपना दरबारी बना लिया। लोग मुझे देखकर ऐसा बर्ताव करने लगे जैसे मैं उनके देश का निवासी हूँ। पूरा पढ़ें...

सिंदबाद जहाजी की चौथी समुद्री यात्रा

सिंदबाद जहाजी की तीसरी समुद्री यात्रा

तीसरी समुद्र यात्रा का वर्णन करने के बाद सिंहबाद ने हिंदबाद को चार सौ दीनारें दीं। पूरा पढ़ें...

सिंदबाद जहाजी की तीसरी समुद्री यात्रा

सिंदबाद जहाजी की दूसरी समुद्री यात्रा

एक-एक गिद्ध के घोंसले को एक-एक व्यापारी चुन लेता था। वहाँ से मिले हीरों पर उसके सिवा किसी का अधिकार नहीं होता था। पूरा पढ़ें...

सिंदबाद जहाजी की दूसरी समुद्री यात्रा

सिंदबाद जहाजी की पहली समुद्री यात्रा

कप्तान को पहले तो मेरी कहानी पर विश्वास न हुआ। फिर उसने ध्यानपूर्वक मुझे देखा और अन्य व्यापारियों को भी मुझे दिखाया। पूरा पढ़ें...

सिंदबाद जहाजी की पहली समुद्री यात्रा

अपरीक्षित कारक

वानरराज का बदला – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक नगर के राजा चन्द्र के पुत्रों को बन्दरों से खेलने का व्यसन था । बन्दरों का सरदार भी बड़ा चतुर था । वह सब बन्दरों को नीतिशास्त्र पढ़ाया करता था पूरा पढ़ें...

वानरराज का बदला – अपरीक्षित कारक की  कहानी

दो सिर वाला जुलाहा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक बार मन्थरक नाम के जुलाहे के सब उपकरण, जो कपड़ा बुनने के काम आते थे, टूट गये । उपकरणों को फिर बनाने के लिये लकड़ी की जरुरत थी । पूरा पढ़ें...

दो सिर वाला जुलाहा – अपरीक्षित कारक की  कहानी

ब्राह्मण का सपना – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक नगर में कोई कंजूस ब्राह्मण रहता था । उसने भिक्षा से प्राप्त सत्तुओं में से थोडे़ से खाकर शेष से एक घड़ा भर लिया था । उस घड़े को उसने रस्सी से बांधकर खूंटी पर लटका दिया पूरा पढ़ें...

ब्राह्मण का सपना – अपरीक्षित कारक की  कहानी

संगीतमय गधा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक धोबी का गधा था। वह दिन भर कपडों के गट्ठर इधर से उधर ढोने में लगा रहता। धोबी स्वयं कंजूस और निर्दयी था। अपने गधे के लिए चारे का प्रबंध नहीं करता था। पूरा पढ़ें...

संगीतमय गधा – अपरीक्षित कारक की  कहानी

दो मछलियों और एक मेंढक की कथा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक तालाब में दो मछ़लियाँ रहती थीं । एक थी शतबुद्धि (सौ बुद्धियों वाली), दूसरी थी सहस्त्रबुद्धि (हजार बुद्धियों वाली) । उसी तालाब में एक मेंढक भी रहता था । पूरा पढ़ें...

दो मछलियों और एक मेंढक की कथा – अपरीक्षित कारक की  कहानी

राजनीति

मनोहर पर्रिकर: फैशनेबल राज्य का सादा मुख्यमंत्री

यूपी-बिहार में जहाँ विधायक और सांसद भी गाड़ियों का काफिला लेकर चलते हैं वहीं पर्रिकर साहब का रहन-सहन बिलकुल अलहदा था। पूरा पढ़ें...

मनोहर पर्रिकर: फैशनेबल राज्य का सादा मुख्यमंत्री

जानिए धारा 370 के बारे में सबकुछ, क्यों अलग है जम्मू कश्मीर बाकी राज्यों से?

जम्मू-कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से शादी कर ले तो उस महिला की जम्मू-कश्मीर की नागरिकता खत्म हो जाएगी पूरा पढ़ें...

जानिए धारा 370  के बारे में सबकुछ, क्यों अलग है जम्मू कश्मीर बाकी राज्यों से?

लब्ध प्रणाश

स्त्री-भक्त राजा – लब्ध प्रणाश की कहानी

एक राज्य में अतुलबल पराक्रमी राजा नन्द राज्य करता था । उसकी वीरता चारों दिशाओं में प्रसिद्ध थी । आसपास के सब राजा उसकी वन्दना करते थे । पूरा पढ़ें...

स्त्री-भक्त राजा – लब्ध प्रणाश की कहानी

स्त्री का विश्वास – लब्ध प्रणाश की कहानी

एक स्थान पर एक ब्राह्मण और उसकी पत्‍नी बड़े प्रेम से रहते थे । किन्तु ब्राह्मणी का व्यवहार ब्राह्मण के कुटुम्बियों से अच्छा़ नहीं था । परिवार में कलह रहता था । पूरा पढ़ें...

स्त्री का विश्वास – लब्ध प्रणाश की कहानी

कुत्ता जो विदेश चला गया – लब्ध प्रणाश की कहानी

एक गाँव में चित्रांग नाम का कुत्ता रहता था । वहां दुर्भिक्ष पड़ गया । अन्न के अभाव में कई कुत्तों का वंशनाश हो गया । अन्न के अभाव में कई कुत्तों का वंशनाश हो गया । पूरा पढ़ें...

कुत्ता जो विदेश चला गया – लब्ध प्रणाश की कहानी

सियार की रणनीति – लब्ध प्रणाश की कहानी

एक राज्य में अतुलबल पराक्रमी राजा नन्द राज्य करता था । उसकी वीरता चारों दिशाओं में प्रसिद्ध थी । आसपास के सब राजा उसकी वन्दना करते थे । पूरा पढ़ें...

सियार की रणनीति  – लब्ध प्रणाश की कहानी

अविवेक का मूल्य – लब्ध प्रणाश की कहानी

एक गांव में उज्वलक नाम का बढ़ई रहता था । वह बहुत गरीब था । ग़रीबी से तंग आकर वह गांव छो़ड़कर दूसरे गांव के लिये चल पड़ा । पूरा पढ़ें...

अविवेक का मूल्य – लब्ध प्रणाश की कहानी

फिल्मी बातें

ऑस्कर-2019 के विजेताओं की पूरी लिस्ट यहाँ है।

इस बार के ऑस्कर में किस फिल्म ने बाजी मारी और किसके सितारे बुलंदियों को छुआ। इसी का लेखा-जोखा लेकर हम पहुँचे हैं आपके पास। पूरा पढ़ें...

ऑस्कर-2019 के विजेताओं की पूरी लिस्ट यहाँ है।

गली बॉय तो देख लिए, लेकिन असली गली बॉय को जाने क्या?

इनकी जिंदगी मिसाल इसीलिए भी है क्योंकि इन्होंने विपरीत परिस्थिति में अपने मुकाम को बनाया है। पूरा पढ़ें...

गली बॉय तो देख लिए, लेकिन असली गली बॉय को जाने क्या?

क्या विवाद हो रहा है मणिकर्णिका के लिए क्रिश और कंगना के बीच?

सिमरन के राईटर अपूर्व असरानी और डायरेक्टर हंसल मेहता ने भी ट्वीट किया है. पूरा पढ़ें...

क्या विवाद हो रहा है मणिकर्णिका के लिए क्रिश और कंगना के बीच?

उरी फिल्म देखनी क्यों जरूरी है हर भारतीय के लिए?

इस आर्टिकल को पढ़ना भी उतना ही जरूरी है मितरों. पूरा पढ़ें...

उरी फिल्म देखनी क्यों जरूरी  है हर भारतीय के लिए?

फिल्म बाजार का ट्रेलर आया है, रिलीज डेट ने इंतज़ार बढ़ा दी

वैसे तो सैफ अली खान का चेहरा बड़े परदे से कभी गायब नहीं हुआ लेकिन लेकिन जो उनकी आखिरी बड़ी हिट थी वो थी साल 2013 में आयी फिल्म रेस-2. अब तक़रीबन पांच साल बाद सैफ अली खान की फिल्म आ रही है बाज़ार, जिसके सुपरहिट होने के कयास लगाए जा रहे हैं. पूरा पढ़ें...

फिल्म बाजार का ट्रेलर आया है, रिलीज डेट ने इंतज़ार बढ़ा दी

क्राइम स्टोरी

पुलवामा में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि: नैना अश्क़ ना हो. .!!

हमें खुशी तो मिलती है लेकिन किस कीमत पर. .?? दस जानों के बदले एक जान. .!! माफ कीजिए साहब मगर बात तो एक के बदले दस लाने की हुई थी। पूरा पढ़ें...

पुलवामा में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि: नैना अश्क़ ना हो. .!!

गैंगस्टर श्रीप्रकाश शुक्ला की पूरी कहानी जिसने यूपी CM की सुपारी ली

श्रीप्रकाश शुक्ला उत्तर प्रदेश में अब तक के सबसे बड़े गैंगस्टर के तौर पर जाना जाता है। वह नब्बे के दशक के आखिरी सालों में अपने कारनामों की वजह से काफी लोकप्रियता हासिल कर लिया था। वह एक राजनैतिक सह पाने वाला अपराधी था। पूरा पढ़ें...

गैंगस्टर श्रीप्रकाश शुक्ला की पूरी कहानी जिसने यूपी CM की सुपारी ली

संधि-विग्रह

कौवे और उल्लू का युद्ध – संधि-विग्रह की कहानी

दक्षिण देश में महिलारोप्य नाम का एक नगर था । नगर के पास एक बड़ा पीपल का वृक्ष था । उसकी घने पत्तों से ढकी शाखाओं पर पक्षियों के घोंसले बने हुए थे । पूरा पढ़ें...

कौवे और उल्लू का युद्ध – संधि-विग्रह की कहानी

बोलने वाली गुफा – संधि-विग्रह की कहानी

किसी जंगल में एक शेर रहता था। एक बार वह दिन-भर भटकता रहा, किंतु भोजन के लिए कोई जानवर नहीं मिला। थककर वह एक गुफा के अंदर आकर बैठ गया। पूरा पढ़ें...

बोलने वाली गुफा – संधि-विग्रह की कहानी

सुनहरे गोबर की कथा – संधि-विग्रह की कहानी

एक पर्वतीय प्रदेश के महाकाय वृक्ष पर सिन्धुक नाम का एक पक्षी रहता था । उसकी विष्ठा में स्वर्ण-कण होते थे । एक दिन एक व्याध उधर से गुजर रहा था । पूरा पढ़ें...

सुनहरे गोबर की कथा – संधि-विग्रह की कहानी

चुहिया का स्वयंवर – संधि-विग्रह की कहानी

गंगा नदी के किनारे एक तपस्वियों का आश्रम था । वहाँ याज्ञवल्क्य नाम के मुनि रहते थे । मुनिवर एक नदी के किनारे जल लेकर आचमन कर रहे थे पूरा पढ़ें...

चुहिया का स्वयंवर – संधि-विग्रह की कहानी

दो सांपों की कथा – संधि-विग्रह की कहानी

एक नगर में देवशक्ति नाम का राजा रहता था । उसके पुत्र के पेट में एक साँप चला गया था । उस साँप ने वहीं अपना बिल बना लिया था । पूरा पढ़ें...

दो सांपों की कथा – संधि-विग्रह की कहानी

फिल्म रिव्यू

फिल्म रिव्यू: गली बॉय

मुंबई की असली आत्मा और यहाँ के लोगों की प्रकृति कैसी है इसके लिए गली बॉय देखना जरूरी सा लगता है। पूरा पढ़ें...

फिल्म रिव्यू: गली बॉय

फिल्म रिव्यू: एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा

माफ कीजिए, मगल फिल्म मनोरंजन कम करती है और सुलाती ज्यादा है. पूरा पढ़ें...

फिल्म रिव्यू: एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा

फिल्म रिव्यू: ठाकरे

फिल्म अच्छी है, देखी जानी चाहिए. बालासाहेब ठाकरे - एक प्रेरणादायक यात्रा. पूरा पढ़ें...

फिल्म रिव्यू: ठाकरे

फिल्म रिव्यू: मणिकर्णिका-द क्वीन ऑफ झाँसी

रानी लक्ष्मीबाई का जीवन किसी एक हिट फिल्म के स्क्रिप्ट से ज्यादा पावरफुल है. पूरा पढ़ें...

फिल्म रिव्यू: मणिकर्णिका-द क्वीन ऑफ झाँसी

फिल्म रिव्यू: ज़ीरो

कहानी है मेरठ के रहने वाले एक इंसान की जिसका नाम है बौआ सिंह (शाहरुख़ खान). ३८ साल के बौआ सिंह का शारीरिक कद छोटा रह गया है जिसे आम तौर पर लोग बौना बुलाते हैं. पूरा पढ़ें...

फिल्म रिव्यू: ज़ीरो

वैलेंटाइन डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक: वैलेंटाइन डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक का महापर्व - वैलेंटाइन डे. पूरा पढ़ें...

वैलेंटाइन वीक: वैलेंटाइन डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक: किस डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक का सातवां दिन - किस डे. पूरा पढ़ें...

वैलेंटाइन वीक: किस डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक: हग डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक का छठा दिन - हग डे. पूरा पढ़ें...

वैलेंटाइन वीक: हग डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक: प्रॉमिस डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक का पाँचवा दिन - प्रॉमिस डे. पूरा पढ़ें...

वैलेंटाइन वीक: प्रॉमिस डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक: टेडी डे की शायरी

वैलेंटाइन वीक का चौथा दिन - टेडी डे. पूरा पढ़ें...

वैलेंटाइन वीक: टेडी डे की शायरी

मित्रलाभ

अभागा बुनकर – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

एक नगर में सोमिलक नाम का जुलाहा रहता था । विविध प्रकार के रंगीन और सुन्दर वस्त्र बनाने के बाद भी उसे भोजन-वस्त्र मात्र से अधिक धन कभी प्राप्त नहीं होता था । पूरा पढ़ें...

अभागा बुनकर – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

व्यापारी के पुत्र की कहानी – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

किसी नगर में एक व्यापारी का पुत्र रहता था। दुर्भाग्य से उसकी सारी संपत्ति समाप्त हो गई। इसलिए उसने सोचा कि किसी दूसरे देश में जाकर व्यापार किया जाए। पूरा पढ़ें...

व्यापारी के पुत्र की कहानी – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

ब्राह्मणी और तिल के बीज – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

एक बार की बात है एक निर्धन ब्राह्मण परिवार रहता था, एक समय उनके यहाँ कुछ अतिथि आये, घर में खाने पीने का सारा सामान ख़त्म हो चुका था, इसी बात को लेकर ब्राह्मण और ब्राह्मण-पत्‍नी में यह बातचीत हो रही थी: पूरा पढ़ें...

ब्राह्मणी और तिल के बीज – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

गजराज और मूषकराज की कथा – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

प्राचीन काल में एक नदी के किनारे बसा नगर व्यापार का केन्द्र था। फिर आए उस नगर के बुरे दिन, जब एक वर्ष भारी वर्षा हुई। नदी ने अपना रास्ता बदल दिया। पूरा पढ़ें...

गजराज और मूषकराज की कथा – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

साधु और चूहा – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

महिलरोपयम नामक एक दक्षिणी शहर के पास भगवान शिव का एक मंदिर था। वहां एक पवित्र ऋषि रहते थे और मंदिर की देखभाल करते थे। वे भिक्षा के लिए शहर में हर रोज जाते थे, पूरा पढ़ें...

साधु और चूहा – मित्र सम्प्राप्ति की कहानी

ट्रेंडिंग टॉपिक्स

कादर खान नहीं रहे, उनका ये गीत किसी का भी मूड बना सकता है

कादर खान पैदा अफगानिस्तान में हुए, काम हिंदुस्तान में किये और अंतिम सांस कनाडा में लिए. पूरा पढ़ें...

कादर खान नहीं रहे, उनका ये गीत किसी का भी मूड बना सकता है

बिहारी पलायन की वीभत्स तस्वीर दिखाती मैथिली शॉर्ट फिल्म "दिवाली"

काम और नौकरीपेशा के सिलसिले में बिहार की आधी से ज्यादा आबादी को बिहार छोड़ना पड़ता है. बिहारी पलायन की सबसे वीभत्स तस्वीर तब सामने आती है जब त्योहारों का मौसम आता है. पूरा पढ़ें...

बिहारी पलायन की वीभत्स तस्वीर दिखाती मैथिली शॉर्ट फिल्म “दिवाली”

जानिए क्या कर रहे हैं अब तक के बिग बॉस विजेता

बिग बॉस का बारहवाँ सीजन शुरू हो गया है और शुरू होते ही हर जगह ट्रेंड करना शुरू भी कर दिया है. कारण है शो का थीम और सलमान खान, साथ में कंटेस्टेंट सब का अपना पर्सनल लाइफ और घर के अंदर की गहमा-गहमी. इस बार के सीजन में कुछ नाम ऐसे है जो बेहद दिलचस्प है. पूरा पढ़ें...

जानिए क्या कर रहे हैं अब तक के बिग बॉस विजेता

रक्षाबंधन शुरू होने की कहानियाँ और आज के दौर में इसका महत्व

सावन के पूर्णिमा को भारत सहित कई देशों में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाता है. इसमें बहन अपनी भाई के कलाई पर राखी (रक्षा सूत्र) बाँधती है और बदले में भाई अपनी बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है. पूरा पढ़ें...

रक्षाबंधन शुरू होने की कहानियाँ और आज के दौर में इसका महत्व

आरती/चालीसा

Alka Yagnik Hanuman Chalisa

अलका याज्ञिक की मधुर आवाज से सजी हनुमान चालीसा का यह पाठ अत्यंत ही मनमोहित है. सुनिए और खो जाइए हनुमान जी की आराधना में अलका याज्ञिक जी की आवाज के संग. पूरा पढ़ें...

Alka Yagnik Hanuman Chalisa

सरस्वती माँ की आरती | Saraswati Mata Ki Aarti

सरस्वती जी साहित्य, संगीत और कला की देवी हैं। उनमें विचारणा, भावना एवं संवेदना का त्रिविध समन्वय है। वीणा संगीत की, पुस्तक विचारणा की और मयूर वाहन कला की अभिव्यक्ति है। पूरा पढ़ें...

सरस्वती माँ की आरती  | Saraswati Mata Ki Aarti

सन्तोषी माता की आरती | Santoshi Maa ki Aarti

संतोषी माँ संतोष की देवी हैं. महिलाओं द्वारा लगातार १६ शुक्रवार तक संतोषी मां व्रत करने से माँ खुश होती है और आशीर्वाद देती हैं. पूरा पढ़ें...

सन्तोषी माता की आरती | Santoshi Maa ki Aarti

हनुमान चालीसा | Hanuman Chalisa

हनुमान चालीसा तुलसीदास की अवधी में लिखी एक काव्यात्मक कृति है जिसमें प्रभु राम के महान भक्त हनुमान के गुणों एवं कार्यों का चालीस चौपाइयों में वर्णन है। पूरा पढ़ें...

हनुमान चालीसा | Hanuman Chalisa

कहानियाँ

कहानी - लाल पान की बेगम

पूर्णिमा का चाँद सिर पर आ गया है। …बिरजू की माँ ने असली रुपा का मँगटिक्का पहना है आज, पहली बार। बिरजू के बप्पा को हो क्या गया है, गाड़ी जोतता क्यों नहीं, मुँह की ओर एकटक देख रहा है, मानो नाच की लाल पान की… पूरा पढ़ें...

कहानी – लाल पान की बेगम

चालाक महाजन और मेहनती चित्रकार – अकबर बीरबल की कहानी

एक बार एक महाजन को अपना चित्र बनवाने का शौक लगा। उसने एक चित्रकार को बुलवाकर अपना चित्र बनाने को कहा। पूरा पढ़ें...

चालाक महाजन और मेहनती चित्रकार – अकबर बीरबल की कहानी

माली और मटका चोर – अकबर बीरबल की कहानी

एक बार की बात हैं बीरबल अपने गाँव से गुजर रहे थे कि तभी उन्हें किसी के रोने की आवाज़ सुनाई दी। उन्होंने जब चारों और देखा तो उन्हें एक बूढा आदमी दिखा। बीरबल ने उसके पास जाकर देखा तो पता चला कि ये तो राजा अकबर के बगीचे में काम करने वाला माली हैं। पूरा पढ़ें...

माली और मटका चोर – अकबर बीरबल की कहानी

पेड़ की गवाही – अकबर बीरबल की कहानी

रोशन जीवन के अंतिम पड़ाव में था इसलिए वह तीर्थयात्रा पर जाना चाहता था । उसने अपने जीवन भर की कमाई एक जगह एकत्रित कर रखी थी पूरा पढ़ें...

पेड़ की गवाही – अकबर बीरबल की कहानी

बाढ़ और राहत बचाव कार्य – तेनालीराम की कहानी

एक बार विजयनगर में बाढ़ के कारण गावं के गावं पानी में डूब गए जिसकी वजह से गावं के लोगो का काफी नुकसान हो गया। जब महाराज कृष्णदेव राय को इस प्राकृतिक आपदा के बारें में बताया गया तो उन्होंने फ़ौरन एक मंत्री को राज्यभर में राहत कार्य शुरू करने को कहा। पूरा पढ़ें...

बाढ़ और राहत बचाव कार्य – तेनालीराम की कहानी

मित्रभेद

मूर्ख मित्र – मित्रभेद की कहानी

किसी राजा के राजमहल में एक बन्दर सेवक के रुप में रहता था । वह राजा का बहुत विश्वास-पात्र और भक्त था । अन्तःपुर में भी वह बेरोक-टोक जा सकता था । पूरा पढ़ें...

मूर्ख मित्र – मित्रभेद की कहानी

जैसे को तैसा – मित्रभेद की कहानी

एक स्थान पर जीर्णधन नाम का बनिये का लड़का रहता था । धन की खोज में उसने परदेश जाने का विचार किया । उसके घर में विशेष सम्पत्ति तो थी नहीं, केवल एक मन भर भारी लोहे की तराजू थी । पूरा पढ़ें...

जैसे को तैसा – मित्रभेद की कहानी

मूर्ख बगुला और नेवला – मित्रभेद की कहानी

जंगल के एक बड़े वट-वृक्ष की खोल में बहुत से बगुले रहते थे । उसी वृक्ष की जड़ में एक साँप भी रहता था । वह बगलों के छोटे-छोटे बच्चों को खा जाता था । पूरा पढ़ें...

मूर्ख बगुला और नेवला – मित्रभेद की कहानी

मित्र-द्रोह का फल – मित्रभेद की कहानी

दो मित्र धर्मबुद्धि और पापबुद्धि हिम्मत नगर में रहते थे। एक बार पापबुद्धि के मन में एक विचार आया कि क्यों न मैं मित्र धर्मबुद्धि के साथ दूसरे देश जाकर धनोपार्जन कर्रूँ। पूरा पढ़ें...

मित्र-द्रोह का फल – मित्रभेद की कहानी

गौरैया और बन्दर – मित्रभेद की कहानी

किसी जंगल के एक घने वृक्ष की शाखाओं पर चिड़ा-चिडी़ का एक जोड़ा रहता था । अपने घोंसले में दोनों बड़े सुख से रहते थे । पूरा पढ़ें...

गौरैया और बन्दर – मित्रभेद की कहानी

हिन्दी व्याकरण

वर्ण विचार

वर्ण विचार हिंदी व्याकरण का पहला खंड है, जिसमें भाषा की मूल इकाई ध्वनि तथा वर्ण पर विचार किया जाता है। इसके अंतर्गत हिंदी के मूल अक्षरों की परिभाषा, भेद-उपभेद, उच्चारण, संयोग, वर्णमाला इत्यादि संबंधी नियमों का वर्णन किया जाता है। पूरा पढ़ें...

वर्ण विचार

आज के सितारे

भारतीय क्रिकेट का वो तूफ़ान ऑलराउंडर, जिसके सितारे अब गर्दिश में है.

उनको जब भी मौका मिला, वो रन बरसाए. जब भी क्रीज पर उतरा, दर्शकों को भरपूर मनोरंजन दिया. जब भी दाँये घुटने को जमीं से टिकाया, गेंद को दर्शक दीर्घा में पहुँचाया. पूरा पढ़ें...

भारतीय क्रिकेट का वो तूफ़ान ऑलराउंडर, जिसके सितारे अब गर्दिश में है.

रनबीर कपूर के जन्मदिन पर एक फैन गर्ल का खुला ख़त

बॉलीवुड के राजकुमार रनबीर कपूर का 28 सितम्बर को जन्मदिन आता है. आज के जेनरेशन के सबसे वर्सेटाइल अभिनेता की दीवानगी इंडिया के साथ पूरी दुनिया में है. अपने अभिनय से वो दर्शकों के और गुड लुक्स से लड़कियों के दिल में जो जगह बनाये है वो हर स्टार का सपना होता है. पूरा पढ़ें...

रनबीर कपूर के जन्मदिन पर एक फैन गर्ल का खुला ख़त

अक्षय कुमार: बॉलीवुड को अरबपति बनाने वाला हीरो

यूँ तो बॉलीवुड में लगभग ढाई दशक से एक्टिव अक्षय कुमार की बॉलीवुड जर्नी और सुपरस्टार बनने की बात पर लिखा जाए तो शायद एक पूरी किताब भी कम पड़े. पूरा पढ़ें...

अक्षय कुमार: बॉलीवुड को अरबपति बनाने वाला हीरो

राधिका आप्टे: आज के दौर की सबसे मज़बूत अभिनेत्री

अगर आप शीर्षक देख कर चौंक पड़े हैं और अपने मन में कुछ ख्याल ला रहे हैं तो एक मिनट ठहरिये. यहाँ हम आपको इस शीर्षक को फिर से पढ़ने के लिए बोल रहे हैं. यहाँ हम अभिनेत्री लिखे हैं, हिरोईन नहीं. पूरा पढ़ें...

राधिका आप्टे: आज के दौर की सबसे मज़बूत अभिनेत्री

जीवन आनंद

महात्मा गाँधी की वो बातें, जिससे जीवन बदल सकता है.

बापू को पुण्यतिथि पर नमन - "मैं किसी को भी अपने गंदे पाँव के साथ मेरे मन से नहीं गुजरने दूंगा". पूरा पढ़ें...

महात्मा गाँधी की वो बातें, जिससे जीवन बदल सकता है.

रबीन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार

रवीन्द्रनाथ टैगोर ज्यादातर अपनी पद्य कविताओं के लिए जाने जाते है, टैगोर ने अपने जीवनकाल में कई उपन्यास, निबंध, लघु कथाएँ, यात्रावृन्त, नाटक और हजारों गाने भी लिखे हैं। इन्ही कार्यों से उपजे उनके कई प्रेरणादायक अनमोल विचार हैं। आइये जानते है उन्ही विचारों को। पूरा पढ़ें...

रबीन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार

गाँधी जी के अनमोल विचार

महात्मा गाँधी अपने जीवनकाल में सफलतापूर्वक बहुत संघर्षो से गुजरे जिसने उनको गाँधी से महात्मा गाँधी बना दिया। गांधी जी ने सभी परिस्थितियों में अहिंसा और सत्य का पालन किया और सभी को इनका पालन करने के लिये प्रेरित भी किया। आइये जानते है उनके संघर्षों से जन्मे अनमोल विचारों को। पूरा पढ़ें...

गाँधी जी के अनमोल विचार

स्वामी विवेकानंद का शिकागो में दिया गया भाषण यहाँ पढ़िए

स्वामी विवेकानन्द ने यह भाषण 11 सितबर 1893 में शिकागो के एक धर्म-सम्मेलन में दिया था जिसने स्वामी विवेकानन्द और भारत के नाम का प्रकाश पूरी दुनिया में फैला दिया. पूरा पढ़ें...

स्वामी विवेकानंद का शिकागो में दिया गया भाषण यहाँ पढ़िए

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार और जीवन जीने की विधियाँ

प्रेरणा के अपार स्रोत स्वामी विवेकानंद की कही एक-एक बात हमें उर्जा से भर देती है. अपने अल्प जीवन में ही उन्होंने पूरे विश्व पर भारत और हिंदुत्व की गहरी छाप छोड़ दी. शिकागो में दिया गया उनका भाषण आज भी लोकप्रिय है और हमें हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का आभास कराता है. पूरा पढ़ें...

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार और जीवन जीने की विधियाँ

अर्जुनविषादयोग ~ अध्याय 1

१ - ११ दोनों सेनाओं के प्रधान शूरवीरों और अन्य महान वीरों का वर्णन

श्रीमद् भगवद᳭ गीता, अध्याय - १ , अर्जुनविषादयोग, १ - ११ दोनों सेनाओं के प्रधान शूरवीरों और अन्य महान वीरों का वर्णन पूरा पढ़ें...

१ – ११ दोनों सेनाओं के प्रधान शूरवीरों और अन्य महान वीरों का वर्णन

कविताएँ

खूब लड़ी मर्दानी वह तो झाँसी वाली रानी थी

सिंहासन हिल उठे राजवंशों ने भृकुटी तानी थी,बूढ़े भारत में आई फिर से नयी जवानी थी, खूब लड़ी मर्दानी वह तो झाँसी वाली रानी थी... पूरा पढ़ें...

खूब लड़ी मर्दानी वह तो झाँसी वाली रानी थी

कविता - मधुबाला

मैं मधु-विक्रेता को प्यारी, मधु के धट मुझ पर बलिहारी, मधु-प्यासे नयनों की माला। मैं मधुशाला की मधुबाला! पूरा पढ़ें...

कविता – मधुबाला

कविता - मधुशाला

पुश्तैनी अधिकार मुझे है मदिरालय के आँगन पर, मेरे दादों परदादों के हाथ बिकी थी मधुशाला। पूरा पढ़ें...

कविता – मधुशाला

श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की कविताएँ

25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में जन्में श्री अटल बिहारी वाजपेयी सिर्फ एक राजनीतिज्ञ ही नहीं बल्कि एक प्रखर कवी भी थे. आज 16 अगस्त 2018 को 93 वर्ष की आयु में वो दिल्ली के एम्स में अपनी अंतिम सांस लिए. पूरा पढ़ें...

श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की कविताएँ

कविता - कदम्ब का पेड़

सुभद्रा कुमारी चौहान (16 अगस्त 1904 - 15 फरवरी 1948) हिन्दी की सुप्रसिद्ध कवयित्री और लेखिका थीं। उनके दो कविता संग्रह तथा तीन कथा संग्रह प्रकाशित हुए पर उनकी प्रसिद्धि झाँसी की रानी कविता के कारण है। पूरा पढ़ें...

कविता – कदम्ब का पेड़

जीवन आदर्श

डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग जूनियर की सम्पूर्ण जीवनी

इस बात को बहुत कम लोग जानते हैं कि मार्टिन लूथर किंग जूनियर ने एक बार आत्महत्या करने की भी कोशिश की थी. पूरा पढ़ें...

डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग जूनियर की सम्पूर्ण जीवनी

स्वामी विवेकानंद की जीवनी और उनके आदर्श

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी सन्‌ 1863 को हुआ। उनका घर का नाम नरेंद्र दत्त था। उनके पिता श्री विश्वनाथ दत्त पाश्चात्य सभ्यता में विश्वास रखते थे। पूरा पढ़ें...

स्वामी विवेकानंद की जीवनी और उनके आदर्श

चुटकुले

फनी जोक्स

पढ़िए शिक्षक विद्यार्थी जोक, पति पत्नी जोक, टीनू, सोनू, राजू जोक्स और हँसिये मुस्कुराइए. अक्ल बड़ी या पैसा जानिए जवाब 🙂 पूरा पढ़ें...

फनी जोक्स

पप्पू जोक्स, चुटकुले, फनी जोक्स

पप्पू समोसा खोलकर सिर्फ अंदर का आलू खा रहा था, ऑटो वाला अपनी होने वाली पत्नी से क्यूँ पिटता है, पढ़िए मजेदार जोक्स पूरा पढ़ें...

पप्पू जोक्स, चुटकुले, फनी जोक्स

व्यंग

श्रीमती गजानंद शास्त्रिणी (व्यंग्य) – सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

श्रीमती गजानन्‍द शास्त्रिणी श्रीमान् पं. गजानन्‍द शास्‍त्री की धर्मपत्‍नी हैं। श्रीमान् शास्‍त्री जी ने आपके साथ यह चौथी शादी की है, धर्म की रक्षा के लिए। शास्त्रिणी के पिता को षोडशी कन्‍या के लिए पैंतालीस साल का वर बुरा नहीं लगा, पूरा पढ़ें...

श्रीमती गजानंद शास्त्रिणी (व्यंग्य) – सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

खेल

आस्ट्रेलिया को धोने के बाद टीम इंडिया का यह वीडियो आपका दिन बना देगा

मेरे देश की धरती सोना उगले पर डांस किया है कोहली एंड कम्पनी ने. पूरा पढ़ें...

आस्ट्रेलिया को धोने के बाद टीम इंडिया का यह वीडियो आपका दिन बना देगा

कल के मैच में वो होने से बच गया, जो श्रीलंका भुगत चूका है

एशिया कप 2018 का झामफाड़ मुकाबला शुरू हो चूका है और सभी टीमें अब तक बीस साबित हुई है. बांग्लादेश की मान भी ले तो अफगानिस्तान की जीत इतनी आसानी से गले नहीं उतरती. पूरा पढ़ें...

कल के मैच में वो होने से बच गया, जो श्रीलंका भुगत चूका है

फुटबॉल विश्व कप ख़त्म हो गया, प्राइज़ मनी सुनकर आपके होश तो नहीं उड़ेंगे. .!!

तो फाइनली हुआ ये कि पिछले एक महीने से चली आ रही फीफा वर्ल्ड कप फुटबॉल का महाकुम्भ खत्म हुआ. गत चैम्पियन जर्मनी अपना ख़िताब नहीं बचा पायी और इस बार फ़्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हराकर दूसरी बार यह ट्राफी अपने घर ले गया. पूरा पढ़ें...

फुटबॉल विश्व कप ख़त्म हो गया, प्राइज़ मनी सुनकर आपके होश तो नहीं उड़ेंगे. .!!

कल के मैच में इंडिया ने वो किया जो पहले कभी नहीं किया था

टीम इंडिया ने अंग्रेजों के खिलाफ अगले ढाई महीने चलने वाले अभियान की शुरुआत कर दी है. और सिर्फ शुरुआत ही नहीं, बल्कि सफल शुरुआत किया है. पूरा पढ़ें...

कल के मैच में इंडिया ने वो किया जो पहले कभी नहीं किया था

जिसे इस आईपीएल सीजन में इमर्जिंग प्लेयर चुना गया, वह टीम इंडिया कि अगली तबाही है

4 ऑक्टोबर 1997 को रुड़की में जन्में ऋषभ पंत के लिए 2018 का आईपीएल सीजन वरदान बनकर आया है. सिर्फ 14 मैच खेलकर ऋषभ ने वो कारनामा कर दिखाया जो बाकी बल्लेबाज पुरे सीजन में नहीं कर सके. पूरा पढ़ें...

जिसे इस आईपीएल सीजन में इमर्जिंग प्लेयर चुना गया, वह टीम इंडिया कि अगली तबाही है

मिर्ज़ा ग़ालिब की शायरी

मिर्ज़ा ग़ालिब के 20 सदाबहार शायरियों का संग्रह - पार्ट 1

जिंदगी को करीब से जानने के लिए इनके शेरों के रास्ते गुजरना ही पड़ता है. पूरा पढ़ें...

मिर्ज़ा ग़ालिब के 20 सदाबहार शायरियों का संग्रह – पार्ट  1

कोई दिन गर ज़िंदगानी और है

ग़ालिब साहब की हर शायरी को आराम से समझना होता है, इनकी हर लफ्ज़ कुछ अलग बयां करती है. पूरा पढ़ें...

कोई दिन गर ज़िंदगानी और है

गज़ल

देखना क़िस्मत कि आप अपने पे रश्क आ जाए है

देखना क़िस्मत कि आप अपने पे रश्क आ जाए है मैं उसे देखूँ भला कब मुझ से देखा जाए है पूरा पढ़ें...

देखना क़िस्मत कि आप अपने पे रश्क आ जाए है

बेजोड़ बातें

बिहार-झारखण्ड और नेपाल के धरोहर को समृद्ध बनाता सामा-चकेवा

सामा-चकेवा के आठ दिवसीय त्योहार का प्रकृति एवं पर्यावरण से गहरा संबंध है. क्योंकि इस आयोजन का एक बड़ा उदेश्य मिथिला क्षेत्र में आने वाले प्रवासी पक्षियों को सुरक्षा और सम्मान देना भी है, जो इन दिनों दूर दराज से इस क्षेत्र में आते है. पूरा पढ़ें...

बिहार-झारखण्ड और नेपाल के धरोहर को समृद्ध बनाता सामा-चकेवा

कहानी नटवर लाल की, जिसने तीन बार ताज महल को बेच दिया था

आज बात होगी उस शख्स की जिसने आपने कामों से या ऐसे बोले की कारनामों से प्रशासन और सरकार की नींदें उड़ा दी थी. वो शख्स कोई और नहीं बल्कि मिथलेश कुमार श्रीवास्तव था, उर्फ़ मि. नटवरलाल. पूरा पढ़ें...

कहानी नटवर लाल की, जिसने तीन बार ताज महल को बेच दिया था

माइक पर आज़ादी चिल्लाने वाले क्रन्तिकारी नहीं होते, उसके लिए भगत सिंह बनना पड़ता है

मैं यह मानता हूँ कि मह्त्वकांक्षी, आशावादी एवं जीवन के प्रति उत्साही हूँ लेकिन आवश्यकता अनुसार मैं इस सबका परित्याग कर सकता हूँ और यही सच्चा त्याग होगा. पूरा पढ़ें...

माइक पर आज़ादी चिल्लाने वाले क्रन्तिकारी नहीं होते, उसके लिए भगत सिंह बनना पड़ता है

नेल्सन मंडेला की वो बातें जो हर युग में प्रासंगिक रहेगी

दक्षिण अफ्रीका के प्रथम अश्वेत राष्ट्रपति नेल्सन रोलीह्लला मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को म्वेज़ो, ईस्टर्न केप, दक्षिण अफ़्रीका संघ में हुआ था. रोहिल्हाला का अर्थ होता है पेङ की डालियां तोङने वाला या प्यारा शैतान बच्चा। इनके पिता का नाम गेडला हेनरी म्फ़ाकेनिस्वा और माता का नाम नेक्यूफी नोसकेनी था. पूरा पढ़ें...

नेल्सन मंडेला की वो बातें जो हर युग में प्रासंगिक रहेगी

योग आपको कैसे एक बेहतर इंसान बनाता है. भाग - 3

कौन से योग को किस तरीके से, किस समय पर और कितने देर तक किया जाना चाहिए ऐसे पाँच महत्वपूर्ण आसन के बारे में बता रहे है जिसे नियमित रूप से किया जाना चाहिए. पूरा पढ़ें...

योग आपको कैसे एक बेहतर इंसान बनाता है. भाग – 3

पंचतंत्र की कहानियाँ

वानरराज का बदला – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक नगर के राजा चन्द्र के पुत्रों को बन्दरों से खेलने का व्यसन था । बन्दरों का सरदार भी बड़ा चतुर था । वह सब बन्दरों को नीतिशास्त्र पढ़ाया करता था पूरा पढ़ें...

वानरराज का बदला – अपरीक्षित कारक की  कहानी

दो सिर वाला जुलाहा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक बार मन्थरक नाम के जुलाहे के सब उपकरण, जो कपड़ा बुनने के काम आते थे, टूट गये । उपकरणों को फिर बनाने के लिये लकड़ी की जरुरत थी । पूरा पढ़ें...

दो सिर वाला जुलाहा – अपरीक्षित कारक की  कहानी

ब्राह्मण का सपना – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक नगर में कोई कंजूस ब्राह्मण रहता था । उसने भिक्षा से प्राप्त सत्तुओं में से थोडे़ से खाकर शेष से एक घड़ा भर लिया था । उस घड़े को उसने रस्सी से बांधकर खूंटी पर लटका दिया पूरा पढ़ें...

ब्राह्मण का सपना – अपरीक्षित कारक की  कहानी

संगीतमय गधा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक धोबी का गधा था। वह दिन भर कपडों के गट्ठर इधर से उधर ढोने में लगा रहता। धोबी स्वयं कंजूस और निर्दयी था। अपने गधे के लिए चारे का प्रबंध नहीं करता था। पूरा पढ़ें...

संगीतमय गधा – अपरीक्षित कारक की  कहानी

दो मछलियों और एक मेंढक की कथा – अपरीक्षित कारक की कहानी

एक तालाब में दो मछ़लियाँ रहती थीं । एक थी शतबुद्धि (सौ बुद्धियों वाली), दूसरी थी सहस्त्रबुद्धि (हजार बुद्धियों वाली) । उसी तालाब में एक मेंढक भी रहता था । पूरा पढ़ें...

दो मछलियों और एक मेंढक की कथा – अपरीक्षित कारक की  कहानी